Sunday, 25 August 2019, 1:18 AM

धर्म एवं ज्योतिष

चैन से सोना है तो 'सोने' को कहें ना  

Updated on 24 August, 2019, 6:00
सोने की चमक सभी को आकर्षित करती है। इसी आकर्षण के कारण लोग अधिक से अधिक सोना खरीदने चाहते हैं। यह चाहत तब और भी बढ़ जाती है जब सोने की कीमत में अचानक थोड़ी गिरावट आती है। लोग इस मौका का लाभ उठाना चाहते हैं। आज कल बाजार में... आगे पढ़े

सबसे बड़ा रहस्य, राधा भगवान श्रीकृष्ण की प्रेमिका थीं, पत्नी थीं या कुछ नहीं?

Updated on 23 August, 2019, 6:30
वर्तमान में राधा और कृष्ण के मंदिर बहुत मिल जाएंगे। वृंदावन में राधारानी का भव्य मंदिर है। कृष्ण के नाम के साथ राधा का ही नाम जुड़ा हुआ है। अब सवाल यह उठता है कि राधा जब श्रीकृष्ण के जीवन में इतनी महत्वपूर्ण थीं तो उन्होंने राधा से विवाह क्यों... आगे पढ़े

नर या नारायण कौन थे 'राम'  

Updated on 23 August, 2019, 6:00
श्रीराम पूर्णत: ईश्वर हैं। भगवान हैं। साथ ही पूर्ण मानव भी हैं। उनके लीला चरित्र में जहां एक ओर ईश्वरत्व का वैचित्रमय लीला विन्यास है, वहीं दूसरी ओर मानवता का प्रकाश भी है। विश्वव्यापिनी विशाल यशकीर्ति के साथ सम्यक निरभिमानिता है। वज्रवत न्याय कठोरता के साथ पुष्यवत प्रेमकोमलता है। अनंत... आगे पढ़े

खास है मराठा काल में बना यह मंदिर, मुगल शासन में भी खण्डित नहीं हुईं यहां की एक भी मूर्ति

Updated on 22 August, 2019, 14:45
हमीरपुर: उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में एक ऐसा अनोखा मंदिर है जिसके बारे में जानकार आप भी वहां एक बार दर्शन करने की इच्छा करने लगेंगे. इस मंदिर की खास बात यह है कि यहां की दीवारों पर पत्थरों को तराश कर रामायण, महाभारत और कृष्ण लीला का चित्रण... आगे पढ़े

भोजन करने संबंधी कुछ जरूरी नियम 

Updated on 22 August, 2019, 7:00
सनातन ध्रर्म में आहार ग्रहण करने के दौरान भी कुछ नियमों का पालन करना जरुरी माना गया है। माना गया है कि जिसप्रकार हम आहार करेंगे वैसे ही हमारे विचार भी होंगे।  सर्वप्रथम : भोजन करने से पूर्व हाथ पैरों व मुख को अच्छी तरह से धोना चाहिये। भोजन से पूर्व... आगे पढ़े

दान से होता है भाग्योदय 

Updated on 22 August, 2019, 6:45
भारतीय संस्कृति में दान का इतिहास काफी पुराना है। दान करने से न केवल आत्मसंतुष्टि व किसी जरूरतमंद की आवश्यकता की पूरी होती है, अपितु आपके जीवन से अशुभता भी घटने लगती है। जानिए कैसे दें दान क्या है इसकी विधि व महत्त्व। सुखमय जीवन व्यतीत करने के लिए हर मनुष्य... आगे पढ़े

ज्योतिष उपायों से परीक्षा में मिलेंगे बेहतर परिणाम 

Updated on 22 August, 2019, 6:30
कई बच्चों का मन पढ़ाई में बिल्कुल भी नहीं लगता, कुछ को तो परीक्षा का भय घेरे रहता है। जिसकी वजह से उन्हें परीक्षा में बेहतर परिणाम प्राप्त नहीं होते ज्योतिष किस प्रकार पढ़ाई में आपकी सहायता कर सकता है आइए जानते हैं। सफलता के लिए आवश्यक है मेहनत और... आगे पढ़े

सपनों के पीछे ग्रह और राशियां भी होती हैं जिम्मेदार 

Updated on 22 August, 2019, 6:15
आमतौर पर सभी को नींद में सपने आते हैं पर कई बार सपने डरावने व अलग हट के होते हैं जो हमें कई प्रकार के संकेत देते हैं।  सपने मन की एक विशेष अवस्था होते हैं, जिसमें वास्तविकता का आभास होता है।  स्वप्न न तो जागृत अवस्था में आते हैं न... आगे पढ़े

अयोध्‍या से श्रीलंका तक दर्शन कराएगी रामायण एक्सप्रेस ट्रेन, ये है रूट

Updated on 21 August, 2019, 17:45
भारतीय रेलवे एक बार फिर श्री रामायण एक्सप्रेस ट्रेन (Shri Ramayan Express Train) चलाने जा रहा है. यह ट्रेन 3 नवंबर को दिल्ली के सफदरजंग स्टेशन (Safdarganj Station) से रवाना होकर 16 दिनों में भारत और श्रीलंका (Srilanka) की यात्रा पूरी करेगी और भगवान राम से जुड़ी जगहों पर श्रद्धालुओं... आगे पढ़े

भगवान श्री कृष्ण के 108 नाम : जन्माष्टमी पर पढ़ना न भूलें, कान्हा देंगे खुशियों का वरदान

Updated on 21 August, 2019, 6:15
सौभाग्य, ऐश्वर्य, यश, कीर्ति, पराक्रम और अपार वैभव के लिए भगवान श्रीकृष्ण के नामों का जाप किया जाता है। 108 नाम यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं।   पढ़ें भगवान श्रीकृष्ण के 108 नाम और उनके अर्थ... और पाएं हर तरह की समृद्धि....    1. अचला : भगवान। 2. अच्युत : अचूक प्रभु या... आगे पढ़े

निष्ठा और सत्य 

Updated on 21 August, 2019, 6:00
निष्ठा अविभाजित मन, अविभाजित चेतना का स्वभाव है। ईश्वर में तुम्हारी निष्ठा है, उसे जानने का प्रयत्न मत करो। आत्मा में तुम्हारी निष्ठा है, उसे जानने का प्रयत्न मत करो। जिसमें भी तुम्हारी निष्ठा है, उसे जानने की कोशिश न करो। बच्चे को मां में विश्वास है। बच्चा मां को... आगे पढ़े

पवित्र रखें अपना घर और स्थान

Updated on 20 August, 2019, 16:57
जिस भूमि में जैसे कर्म किए जाते हैं, वैसे ही संस्कार वह भूमि भी प्राप्त कर लेती है। इसलिए गृहस्थ को अपना घर सदैव पवित्र रखना चाहिए। मार्कण्डेय पुराण में एक कथा आती है कि राम और लक्ष्मण वन में प्रवास कर रहे थे। मार्ग में एक स्थान पर लक्ष्मण... आगे पढ़े

Janmashtami 2019: जानें जन्माष्टमी की सही डेट, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

Updated on 20 August, 2019, 16:54
कृष्ण, गिरिधर, मुरलीधर, श्याम, मोहन, मधुसूदन, यशोदानंदन, देवकीनंदन, गोपाल, चक्रधारी, मुरारी, बनवारी, योगीश्वर ये सारे नाम भक्तों ने अपने प्रभु कन्हैया को दिए हैं। जिस रूप में प्रभु ने भक्तों की रक्षा की, भक्तों ने उन्हें उसी नाम से याद करना शुरू कर दिया। मान्यता है कि कान्हा की पूजा... आगे पढ़े

Janmashtami 2019: सब विकार हर लेते हैं श्रीकृष्ण

Updated on 20 August, 2019, 16:48
सूफी भक्त बुल्ले शाह भी ठगे से रह गए। अपनी बुक्कल में कस कर सीने से लगा रखा था, कब फिसल कर भाग गया, पता ही नहीं चला। किसी से कह न पाए, फिर भी दुनिया भर में शोर मच गया- मेरी बुक्क्ल दे विच चोर नी, किसनू कूक सुणावां,... आगे पढ़े

जन्माष्टमी 2019 : श्री कृष्ण को प्रिय हैं ये 6 मंत्र, पढ़ें हिन्दी अर्थ

Updated on 20 August, 2019, 7:00
श्री कृष्ण जन्माष्टमी के पावन मंत्र   श्री कृष्ण पूजन का हर शास्त्र में विशेष महत्व बताया गया है। आइए 6 विशेष  जन्माष्टमी मंत्रों के माध्यम से जानें कि क्या लाभ मिलता है श्रीकृष्ण का ध्यान लगाने से, उनके पूजन से, उनकी आराधना से...   श्री शुकदेवजी राजा परीक्षित्‌ से कहते हैं-   1. सकृन्मनः कृष्णापदारविन्दयोर्निवेशितं तद्गुणरागि... आगे पढ़े

ध्वनि तंरगों से रोगें का उपचार  

Updated on 20 August, 2019, 6:00
यह बात जान कर आप सभी को आश्चर्य होगा की ध्वनि तंरगें से भी रोगों के उपाच होते है। यह विश्व जीवों से भरा है। ध्वनि तंरगों की टकराहट से सुक्ष्म जीव मर जाते है, रात्री में सूर्य की पराबैगनी किरणां के अभाव में सूक्ष्म जीव उत्पन्न होते है जो... आगे पढ़े

वाणी का शरीर पर प्रभाव  

Updated on 19 August, 2019, 6:00
मानव शरीर में अनेक ग्रंथियां होती हैं,पियूष ग्रंथि मस्तिष्क में होती है, उससे 12 प्रकार के रस निकलते है, जो भावनाओं से विशेष प्रभावित होती हैं। जब व्यक्ति प्रसन्नचित होता है, तो इन ग्रनथियों से विशेष प्रकार के रस बहने लगते है, जिससे शरीर पुष्ट होने लगता है, बुद्धि विकसित... आगे पढ़े

 मौन का तन मन की सुन्दरता के लिये महत्व 

Updated on 18 August, 2019, 6:00
प्रत्येक मनुष्य सुन्दर एवं स्वस्थ्य रहना चाहता है। सुन्दरता एवं स्वस्थ्य का राज मौन मै छिपा हुआ है। सामान्यतŠ चुप रहना मौन है, प्राचीन पुराण बचन के साथ ईष्या, डाह, छल, कपट और हिन्सा को कम करना मोन होता है। मनोवैज्ञानिक ‘फ्रायड’ का कहना है कि जीवन अन्तर्द्वद्वी शृंखलाओं से... आगे पढ़े

ध्वनि का प्राणी शरीर पर प्रभाव  

Updated on 17 August, 2019, 6:00
यह जानकर खुश होगें की ध्वनि का प्रभाव प्रत्येक जीव के शरीर पर पड़ता है। वर्तमान औधोगिकी करण और तकनीकि से ध्वनि प्रदूषण अधिक मात्रा में बढ़ रहा है। इस ध्वनि प्रदूषण के परिणाम देखते हुये नोबेल पुरस्कार विजेता डॉ. राबर्ट कॉक ने सन् 1925-26 में एक बात कही थी... आगे पढ़े

श्री चंद्रशेखरेंद्र सरस्वती स्वामिगल

Updated on 16 August, 2019, 6:00
चंद्रशेखरेंद्र सरस्वती स्वामिगल (1894–1994), जिन्हें कांची या महापरियावा के ऋषि के रूप में भी जाना जाता है, कांची कामकोटि पीठम के 68वें जगद्गुरु थे। जीवन : महापरियावा का जन्म और पालन-पोषण दक्षिण अर्कोट जिले के विल्लुपुरम में हुआ था। उनका जन्म नाम स्वामीनाथन था। उनका परिवार स्मार्त ब्राह्मण संप्रदाय से संबंधित... आगे पढ़े

घर का प्रवेश द्वारा हो वास्‍तु के अनुसार 

Updated on 15 August, 2019, 7:00
जीवन में सभी लोग सुख और सुविधाएं चाहते हैं और उसके लिए सभी प्रयास करते हैं। कई बार घर में सब कुछ ठीक होने के बावजूद कुछ ठीक नहीं होता। मन और घर में नकारात्‍मक ऊर्जा रहती है। इसके पीछे कई बार घर के मुख्‍य से जुड़े वास्‍तु दोष होते... आगे पढ़े

यंत्र से मिलता है जीवन की समस्याओं का समाधान 

Updated on 15 August, 2019, 6:45
हिन्दू धर्म के अनेक ग्रंथों में कई तरह के चक्रों और यंत्रों के बारे में विस्तार से उल्लेख किया गया है। जिनमें राम शलाका प्रश्नावली, हनुमान प्रश्नावली चक्र, नवदुर्गा प्रश्नावली चक्र, श्रीगणेश प्रश्नावली चक्र आदि प्रमुख हैं। कहते हैं इन चक्रों और यंत्रों की सहायता से लोग अपने मन में... आगे पढ़े

इस कारण मंदिर के प्रवेश स्थान पर लगाई जाती है घंटी 

Updated on 15 August, 2019, 6:00
कहते हैं, पूजा करते वक्त घंटी जरूर बजानी चाहिए। ऐसा मानना है कि इससे ईश्वर जागते हैं और आपकी प्रार्थना सुनते हैं। लेकिन हम आपको यहां बता रहे हैं कि घंटी बजाने का सिर्फ भगवान से ही कनेक्शन नहीं है, बल्क‍ि इसका वैज्ञानिक असर भी होता है। यही वजह है... आगे पढ़े

अयोध्या में राम मंदिर होने के सबूत

Updated on 14 August, 2019, 7:00
अयोध्या भगवान श्रीराम की जन्मभूमि है। यहां महल, मंदिर और तमाम तरह के आश्रम बने हुए थे। लेकिन गुलामी के काल में यह सभी तोड़ दिए गए। कहा गया कि लुटेरे बाबर के काल में राम मंदिर तोड़कर वहां पर बाबरी मस्जिद बना दी गई थी। तभी से यह मुद्दा... आगे पढ़े

जो नहीं है उसे पाना हो ध्येय

Updated on 14 August, 2019, 6:00
असंतुष्ट होने का अर्थ दुखी होना नहीं है। असल में कोई आदमी पूरी तरह सुखी होकर भी असंतुष्ट हो सकता है। सुखी होने का मतलब है, जो है, उसे आनंद से भोगना। और असंतुष्ट होने का अर्थ है: जो नहीं है उसे आनंद से पैदा करने का श्रम करना। जब... आगे पढ़े

तिरुपति बालाजी मंदिर में भक्तों का तांता, एक दिन में आया 3 करोड़ से ज्यादा का चढ़ावा

Updated on 13 August, 2019, 10:20
नई दिल्ली/तिरुमाला: तिरुमाला पर्वत पर स्थित भगवान तिरुपति बालाजी के मंदिर की महत्ता कौन नहीं जानता. हर साल करोड़ों लोग इस मंदिर के दर्शन के लिए आते हैं. ऐसा माना जाता है कि यह स्थान भारत के सबसे अधिक तीर्थयात्रियों के आकर्षण का केंद्र है. तिरुपति बालाजी मंदिर दुनिया के... आगे पढ़े

राम के जुड़वां पुत्र लव और कुश का भारत में कहां-कहां राज्य था?

Updated on 13 August, 2019, 6:45
लव और कुश राम तथा सीता के जुड़वां बेटे थे। कहते हैं कि जब राम ने वानप्रस्थ लेने का निश्चय कर भरत का राज्याभिषेक करना चाहा तो भरत नहीं माने। अत: दक्षिण कोसल प्रदेश (छत्तीसगढ़) में कुश और उत्तर कोसल में लव का अभिषेक किया गया। हालांकि यह अभी भी... आगे पढ़े

राम के पुत्र लव और कुश की वंशावली

Updated on 13 August, 2019, 6:30
राम के दो जुड़वा पुत्र लव और कुश थे। दोनों का ही वंश आगे चला। वर्तमान में दोनों के ही वंश के लोग बहुतायत में पाए जाते हैं। आओ जानते हैं कि कौन है लव और कुश के कुल के लोग जो भारत में आज भी निवास करते हैं। - ब्रह्मा... आगे पढ़े

जीवन के चार आधार

Updated on 13 August, 2019, 6:00
सुसंस्कारिता के चार आधार हैं- समझदारी, ईमानदारी, जिम्मेदारी और बहादुरी। इन्हें आध्यात्मिक-आंतरिक वरिष्ठता की दृष्टि में उतना ही महत्वपूर्ण माना जाना चाहिए जितना शरीर के लिए अन्न, जल, वस्त्र और निवास अनिवार्य समझा जाता है। समझदारी का अर्थ है- दूरदर्शी विवेकशीलता अपनाना। आमतौर से लोग तात्कालिक लाभ को सब कुछ... आगे पढ़े

बस यादों में रह गये है सावन के झूले 

Updated on 12 August, 2019, 6:30
सावन के झूलों ने मुझको बुलाया मैं परदेसी घर वापस आया। ऐसे गाने सावन आते ही लोगों की जुबान पर खुद-ब-खुद आ जाते हैं। एक दौर था जब लोगों को सावन के महीने का बेसब्री से इंतजार रहता था। सावन शुरू होते ही गांव की गलियों से लेकर शहरों तक... आगे पढ़े